राहुल के जीजा के जीजा ने राफेल को लेकर डाली कोर्ट में याचिका लेकिन कांग्रेस ने ही ऐसे दे दिया उसे झटका

0
74

राफेल डील को लेकर कांग्रेस देश भर में भ्रम पैदा कर रही है. राफेल डील विवाद को लेकर विपक्ष सरकार को घेरने की कोशिश में लगा हुआ है.  कांग्रेस के नेताओं ने राफेल डील को चुनावी मुद्दा बनाकर मोर्चा खोल रखा है. मगर जब खुद एक “कांग्रेसी” ने राफेल डील को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की तो कैसे कांग्रेस ने अपने ही समर्थक को दे दिया बड़ा झटका.

दरअसल राहुल गाँधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा के बहनोई तहसीन पूनावाला ने राफेल डील को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की थी जिसे लेकर कांग्रेस लीगल डिपार्टमेंट के सुप्रीम कोर्ट यूनिट के चेयरमैन और वरिष्ठ वकील अनूप जाॅर्ज चौधरी ने एक प्रेस नोट जारी कर कहा है कि इस याचिका से कांग्रेस का कोई लेना देना नही है.

Source-Twitter

बता दे कि चौधरी ने कहा कि पार्टी नहीं समझती है कि ये मसला उठाने के लिए सुप्रीम कोर्ट उचित फोरम है और पार्टी का ना तो तहसीन पूनावाला से कोई संबंध है और ना ही उनकी याचिका से. तहसीन पूनावाला ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी कि रक्षा मंत्रालय को निर्देश दिया जाये कि वे 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद में आने वाली कुल लागत का खुलासा करें. याचिका में सुप्रीम कोर्ट से केंद्र सरकार को यह भी बताने का निर्देश दिए जाने की मांग की गयी है कि क्यों 23 सितंबर 2016 को फ्रांस के साथ इन लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए करार पर दस्तखत करने से पहले रक्षा खरीद प्रक्रिया के तहत इस बाबत मंत्रिमंडल की मंजूरी नहीं ली गई.

Source-dbn.news

अब सोचने वाली बात तो यह है कि जब राफेल डील को लेकर कांग्रेस सरकार पर हेराफेरी का आरोप लगाती है तो सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका पर अपने ही समर्थक को सपोर्ट क्यों नही कर रही है. अगर कांग्रेस इन सभी सवालों के जवाब सरकार से जानना चाहती है तो तहसीन पूनावाला की याचिका से खुद को अलग क्यों कर रही है. बता दें कि तहसीन पूनावाला टीवी डिबेट में कांग्रेस का पक्ष रखते हुए अक्सर देखे जाते है. वे कांग्रेस के बागी नेता शेह्ज़ाद पूनावाला के भाई है. कांग्रेस का इस याचिका से दूरी बनाना एक बार फिर उनके आरोपों को लेकर सवाल खड़े कर रहा है.