आखिर क्यों पीएम मोदी की सुरक्षा में तैनात जवानों को पहना दिया गया कुर्ता-पायजामा, वजह बेहद दिलचस्प है !

0
158

इसमें कोई अतिशियोक्ति नहीं कि नरेंद्र मोदी जैसा नेता भारत में कोई दूसरा नहीं है. अटल जी के बाद अगर देश को कोई करिश्माई नेता मिला है तो वो नरेंद्र मोदी ही हैं. पीएम मोदी की जैसी लोकप्रियता है उसको देखते हुए उनकी सुरक्षा भी काफी अहम हो जाती है. कई बार ऐसी खबर सामने आई है जिसमें पीएम मोदी की जान को खतरा बताया गया है. ऐसे में जब वो कोई दौरा करते हैं तो उनकी सुरक्षा को लेकर किये गये चौक चौबंद एकदम अलग होते हैं.

14 सितम्बर को जब पीएम मोदी मध्य प्रदेश के इंदौर की सैफी मस्जिद में दाऊदी बोहरा समुदाय के ‘आशरा मुबारक’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे तो उनकी सुरक्षा को लेकर कुछ ऐसे प्रयोग किये गये जो बेहद सादगी वाले और एकदम अलग थे. बता दें कि इस कार्यक्रम में पीएम मोदी को देखने और उन्हें सुनने के लिए बेहद भीड़ थी.

image source: dainik bhaskar

पीएम मोदी की सुरक्षा के लिए 4000 जवानो को तैनात किया गया था. SPG के कमांडों भी इस कार्यक्रम की हर गतिविधि पर नजर रखे हुए थे. इसके लिए ड्रोन कैमरे और CCTV का इस्तेमाल किया गया. क्योंकि ये कार्यक्रम दाऊदी बोहरा समुदाय का था इसलिए श्रद्धालुओं के बीच में पुलिस जवानों को कुर्ते पायजामे में बिठाया गया था. अमूमन पुलिस के जवान सुरक्षा की दृष्टि से खाकी वर्दी में नजर आते हैं लेकिन इस अनूठे प्रयोग में जवान खादी कुर्ते में नजर आ रहे थे.

वर्दी के ऊपर से कुर्ता पायजामा पहने हुए सुरक्षाकर्मी (फोटो सोर्स: जनसत्ता)

इंदौर के DIG हरि नारायणचारी मिश्रा ने बताया कि “इस तरह के प्रयोग करने के पीछे एक खास वजह थी. श्रद्धालुओं के बीच अगर जवान वर्दी में बैठते तो बेहद अजीब स्थिति पैदा होती. इससे भ्रम और असहजता का माहौल बनता और जवान श्रद्धालुओं से अलग नजर आते. इसलिए श्रद्धालुओं को कोई दिक्कत ना हो इसके लिए उन्हें कुर्ता पायजामा में बैठाने का फैसला किया गया.” बता दें कि जवानों ने अपनी वर्दी के ऊपर से कुर्ता पायजामा पहना हुआ था. जिसे आयोजकों ने दिया था और कार्यक्रम ख़त्म होने के बाद जवानों ने उन्हें लौटा दिया था.