Breaking News
Home / Breaking / शिवसेना ने अविश्वास प्रस्ताव के दौरान बीजेपी को दिया था झटका अब देखिये बीजेपी क्या करने जा रही है !

शिवसेना ने अविश्वास प्रस्ताव के दौरान बीजेपी को दिया था झटका अब देखिये बीजेपी क्या करने जा रही है !

शिवसेना ने दिया था बीजेपी को झटका, जी हां आपको बता दे कि संसद मे अविश्वास प्रस्ताव के दौरान शिवसेना ने बीजेपी को झटका दिया था. जिसके बाद बीजेपी सचेत हो गई है और अब वह शिवसेना के विरूद्ध ऐसी रणनीति बना रही है जिससे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे भी सदमे में आ सकते है.आइये हम आपको बताते है, बीजेपी की वह रणनीति जिसके बाद बीजेपी के सामने विवश हो सकती है शिवसेना.

शाह की रणनीति

आपको बता दे कि महाराष्ट्र मे बीजेपी और शिवसेना की गठबंधित सरकार है लेकिन शिवसेना के द्वारा अविश्वास प्रस्ताव के दौरान बीजेपी को समर्थन न करना बीजेपी की चिंता को बढ़ा रही थी. जिसके बाद बीजेपी के चाणक्य कहे जाने वाले  अमित शाह ने शिवसेना को इस धोखेबाजी का सबक सिखाने का ठाना है, जिसके लिए शाह ने मुंबई मे अपने सभी कार्यकर्ताओं की एक बैठक बुलाई थी.

 

महाराष्ट्र मे अपने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ( image source: danik jagran)

जिस दौरान उन्होंने अपने सभी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर कहा कि,’ हमें महाराष्ट्र मे अकेले दम पर चुनाव लड़ना हैं जिसके लिए यह आवश्यक है कि हमारे टीम के सभी कार्यकर्ता ग्राउंड लेवल पर कार्य करें.’

आपको बता दे कि शाह अपने इस रणनीति को अमल मे लाने के लिए महाराष्ट्र आये हुए है.

विपक्षी पार्टियों पर कम हो निर्भरता

इस बैठक मे शाह ने कहा कि,’ हमे महाराष्ट्र में सभी 48 सीटों पर चुनाव लड़ने है और हमें इन सीटों पर सिर्फ लड़ना ही नही जीतना भी है. हमे हर बूथ पर कम से कम 51% वोट करवाने है, जिसके लिए हमारे पार्टी के कार्यकर्ताओं को काफी सजग और एक्टिव होने की जरूरत है.’

 

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ( image source: jansatta)

उन्होंने कहा कि अगर हम सब सभी काम समय पर करे तो हमें आगामी लोकसभा चुनाव में जीतने से कोई नहीं रोक सकता. इस रणनीति के अनुसार कार्य करने से हमारी विपक्षी पार्टियों पर निर्भरता भी कम होगी.

‘एकला चलो रे’

मानसून सत्र के दौरान संसद को संबोधित करते पीएम मोदी ( image source: amar ujala)

दरअसल बात यह है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह महाराष्ट्र मे होने वाले चुनाव के लिए एकला चलो रे की रणनीति पर कार्य कर रहे है. शाह ने कहा कि शिवसेना हमेशा अपनी राजनीतिक लाभ के लिए पार्टी पर फोर्स बनाती रहती है लेकिन हमारी सरकार किसी भी तरह की राजनीतिक लाभ का समर्थन नहीं करती. शिवसेना अगर इसी तरह अपनी रवैये पर अडिग रही तो हो सकता है कि उसे आने वाले दिनों मे उसे उसका ख़ामियाजा भुगतना पड़े.

हालांकि आने वाले समय मे बीजेपी महाराष्ट्र में अकेले चुनाव लड़ती नज़र आएगी.

अब एक प्रश्न आपके लिए

क्या शाह की रणनीति के सामने घुटने टेंक देगी शिवसेना?

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *